Abhiyanta Vishveshwarya Questions & Answers अभियंता विश्वेश्वरैया प्रश्न और उत्तर

This article will share Abhiyanta Vishveshwarya Questions & Answers अभियंता विश्वेश्वरैया प्रश्न और उत्तर।

पिछले पोस्टों में मैंने Phool Aur Kaante और Tiranga के Questions & Answers शेयर किए हैं तो आप उसे भी चेक कर सकते हैं।

Abhiyanta Vishveshwarya Questions & Answers अभियंता विश्वेश्वरैया प्रश्न और उत्तर

शब्दार्थ

  • निकास  – निकलना 
  • अभियंता – इंजीनियर
  • पठारी – समतल मैदान
  • उपाधि – डिग्री
  • परिश्रम – मेहनत
  • आपूर्ति – उपलब्ध करना

प्रश्न 1: रिक्त स्थान की पूर्ति कीजिए:

(क) विश्वेश्वरैया का पूरा नाम मोक्षगुंडम विश्वेश्वरैया है।
(ख) विश्वेश्वरैया के माता-पिता का नाम एम. श्रीनिवास शास्त्री और माँ का नाम वेंकटलक्ष्मी है
(ग) विश्वेश्वरैया ने अफ्रीका में अध्ययन पूरा कर वहाँ भी जल आपूर्ति और पानी निकास संयंत्र लगवा दिया।

प्रश्न 2: विश्वेश्वरैया की पहली नियुक्ति कहाँ हुई थी?

उत्तर: इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद विश्वेश्वरैया की पहली नियुक्ति लोक निर्माण विभाग (पी. डब्ल्यू. डी.) मुंबई में हुई थी।

प्रश्न 3: पठारी भागों में अच्छी फसलें कैसे उगने लगीं?

उत्तर: विश्वेश्वरैया ने अपनी प्रतिभा और परिश्रम से पठारी इलाकों में सिंचाई की व्यवस्था की। इससे इन क्षेत्रों में अच्छी फसलें कैसे उगने लगीं।

प्रश्न 4: विश्वेश्वरैया द्वारा बनाए गए स्वचालित संयंत्र को कहाँ-कहाँ लगाया गया?

उत्तर: विश्वेश्वरैया द्वारा बनाए गए स्वचालित संयंत्र को ग्वालियर के टिगरा बाँध और कृष्णराज सागर बाँध, मैसूर में लगाया गया।

प्रश्न 5: अभियंता दिवस विश्वेश्वरैया के जन्मदिन ही क्यों मनाया जाता है?

उत्तर: अभियंता दिवस विश्वेश्वरैया के जन्मदिन ही इसलिए मनाया जाता है क्योंकि वे एक महान अभियंता थे। भारत जैसे कृषि-प्रधान देश में अभियंता सर मोक्षगुंडम विश्वेश्वरैया के महान कार्यों को सदैव याद किया जाए इसलिए उनका जन्मदिन भारत में ‘अभियंता दिवस’ के रूप में मनाया जाता है।

प्रश्न 6: विश्वेश्वरैया ने अपनी कामयाबी का एक और झंडा कहाँ गाड़ दिया और कौन-कौन से उपकरण तैयार किए?

उत्तर: विश्वेश्वरैया ने अपनी कामयाबी का एक और झंडा हैदराबाद शहर के लिए बाढ़-नियंत्रण संयंत्र का निर्माण करके गाड़ दिया। इसके अलावा उन्होंने विशाखापट्टनम के बंदरगाह के लिए एक उपकरण तैयार किया। यह उपकरण समुद्री जल से बंदरगाह को होने वाले नुकसान से बचाने का काम करता था। उनके कार्य का ही कमाल था कि एशिया के सबसे बड़े बाँध कृष्णराज सागर का निर्माण हुआ। 

प्रश्न 7: विश्वेश्वरैया ने अपनी प्रतिभा और परिश्रम से पठारी इलाकों में किस प्रकार कार्य किया?

उत्तर: विश्वेश्वरैया ने अपनी प्रतिभा और परिश्रम से पठारी इलाकों में सिंचाई की व्यवस्था की। इससे इन क्षेत्रों में अच्छी फ़सल उगने लगी। विश्वेश्वरैया ने १९०३ में एक ऐसे स्वचालित संयंत्र का निर्माण किया, जो बाँधों से अतिरिक्त पानी को अपने आप सही स्थान तक भेज सकता था। इससे बाँध के टूटने का खतरा टल जाता और अतिरिक्त पानी का भी सदुपयोग होता था।

तो ये थे Abhiyanta Vishveshwarya Questions & Answers अभियंता  विश्वेश्वरैया प्रश्न और उत्तर।