Path Aalokit Kar Do Questions & Answers पथ आलोकित कर दो प्रश्न और उत्तर

This article will share Path Aalokit Kar Do Questions & Answers पथ आलोकित कर दो प्रश्न और उत्तर 

यह कविता द्वारिका प्रसाद माहेश्वरी द्वारा लिखित है। पिछले पोस्टों में मैंने Koyal, Raja Murkhraj Ka Darbar और Savdhani Hati Durghatna Ghati के Questions & Answersशेयर किए हैं तो आप उसे भी चेक कर सकते हैं।

Path Aalokit Kar Do Questions & Answers पथ आलोकित कर दो प्रश्न और उत्तर

शब्दार्थ 

  • आलोकित – प्रकाशित, चमकता हुआ
  • तम – अंधेरा
  • नवल – नया
  • पथिक – राही
  • उर – हृदय

प्रश्न 1: कवि नन्हें पथिक के रूप में कहाँ चलना सीख रहा है ?

उत्तर: कवि नन्हें पथिक के रूप में विश्व के पथ पर चलना सीख रहा है।

प्रश्न 2: कवि ने कौन सा तम हरने के लिए कहा है?

उत्तर: कवि ने उर (हृदय) का तम हरने के लिए कहा है।

प्रश्न 3: पथ को कैसे करने की बात कही गई है?

उत्तर: पथ को आलोकित यानी प्रकाशित करने की बात कही गई है।

प्रश्न 4: कवि किसके समान उड़ना चाहता है?

उत्तर: कवि पंछी के समान उड़ना चाहता है।

प्रश्न 5: रिक्त स्थान भरिए:

(क) नन्हा पक्षी उड़ना सीख रहा है।
(ख) विश्व का मैं नन्हा-सा पथिक हूँ।
(ग) नई सुबह की नई किरण है।

प्रश्न 6: सही या गलत लिखिए:

(क) कवि पथ पर चलना सीख रहा है – सही
(ख) कवि की कोई मनोकामना नहीं है – गलत
(ग) पर्वत को ही स्वर्ग बनाना है – गलत

तो ये थे Path Aalokit Kar Do Questions & Answers पथ आलोकित कर दो प्रश्न और उत्तर।