Raja Murkhraj Ka Darbar Questions & Answers राजा मूर्खराज का दरबार प्रश्न और उत्तर

This article will share Raja Murkhraj Ka Darbar Questions & Answers राजा मूर्खराज का दरबार प्रश्न और उत्तर

पिछले पोस्टों में मैंने Koyal और Savdhani Hati Durghatna Ghati के Questions & Answersशेयर किए हैं तो आप उसे भी चेक कर सकते हैं।

Raja Murkhraj Ka Darbar Questions & Answers राजा मूर्खराज का दरबार प्रश्न और उत्तर

शब्दार्थ 

  • क्रोधित – गुस्सा
  • फरियादी – शिकायत करने वाला
  • सलाह – राय
  • जहर – विष

प्रश्न 1: सही या गलत लिखिए:

(क) राजा मूर्खराज का दरबार लगा था – सही
(ख) सोहन मंत्री को आँखें दिखा रहा था – गलत
(ग) साँप शब्द सुनते ही राजा ने अपने दोनों पैर ऊपर उठा लिए – सही
(घ) मंत्री ने विष का अर्थ समझाने से इंकार कर दिया – गलत

प्रश्न 2: सभी मंत्री और दरबारी कहाँ बैठे थे?

उत्तर: सभी मंत्री और दरबारी अपने-अपने आसन पर बैठे थे।

प्रश्न 3: सोहन ने क्या चुराया था?

उत्तर: सोहन ने घड़ी चुराई थी।

प्रश्न 4: मंत्री और दरबारी किससे परेशान थे?

उत्तर: मंत्री और दरबारी राजा की मूर्खता से परेशान थे।

प्रश्न 5: राजा के हाथ से गिलास किसने छीन लिया?

उत्तर: राजा के हाथ से गिलास मंत्री ने छीन लिया।

प्रश्न 6: राजा ने सोहन से क्या पूछा?

उत्तर: राजा ने सोहन से पूछा कि क्या तुमने चोरी की है? क्या चुराया है   तुमने?

प्रश्न 7: भरी सभा में सबको क्या दिखाई दे रहा था?

उत्तर: भरी सभा में सबको दिखाई दे रहा था कि सोहन की आँख में काजल नहीं है इसलिए वह चोर नहीं है।

प्रश्न 8: ‘आँख का काजल चुरानाका अर्थ क्या है?

उत्तर: ‘आँख का काजल चुराना’ का अर्थ है सफाई से चोरी करना।

प्रश्न 9: कहानी के अंत में राजा ने मंत्री से क्या कहा?

उत्तर: राजा ने मंत्री से कहा कि अब वह मंत्री की सलाह के बिना कोई फैसला नहीं सुनाएगा और वे सब मिलकर राज्य की देखभाल करेंगे।

तो ये थे Raja Murkhraj Ka Darbar Questions & Answers राजा मूर्खराज का दरबार प्रश्न और उत्तर।