Veh Shakti Hamein Do Questions & Answers वह शक्ति हमें दो प्रश्न और उत्तर

This article will share Veh Shakti Hamein Do Questions & Answers वह शक्ति हमें दो प्रश्न और उत्तर

मुरारी लाल शर्मा ‘देशबंधु’ द्वारा लिखित इस कविता में कवि ने सभी का मंगल करने की कामना व्यक्त की है। पिछले पोस्टों में मैंने Shoolpaani, Birsa Munda और Udbodhan के Questions & Answers शेयर किए हैं तो आप उसे भी चेक कर सकते हैं।

Veh Shakti Hamein Do Questions & Answers वह शक्ति हमें दो प्रश्न और उत्तर

शब्दार्थ 

  • दयानिधे – ईश्वर 
  • पर-सेवा – दूसरों की सेवा 
  • निबलों – कमज़ोरों 
  • विकलों – जिनके किसी अंग में दोष हो 
  • संताप – कष्ट 
  • तारें – दूर करें 
  • छल – धोखा 
  • दंभ – घमंड 
  • द्वेष – ईर्ष्या 
  • पाखंड – झूठा दिखावा करना 
  • निशिदिन – रात-दिन 
  • शुचि – पवित्र 
  • मर्यादा – सीमा 

प्रश्न 1: सही विकल्प चुनिए:

1. कवि दयानिधि से क्या माँग रहे हैं?

i. धन 
ii. शक्ति 
iii. भोजन 
iv. वस्त्र  

2. कवि कैसा जीवन चाहते हैं?

i. सुखी 
ii. दुखी 
iii. शुद्ध-सरल 
iv. निरोगी 

3. ‘मर्यादा’ शब्द का अर्थ क्या है?

i. पवित्र 
ii. सीमा 
iii. कष्ट 
iv. ईश्वर 

4. प्रार्थना मनुष्य को क्या बनाती है?

i. कमजोर 
ii. डरपोक  
iii. श्रेष्ठ 
iv. घमंडी 

5. ‘निबलों’ शब्द का अर्थ क्या है?

i. साहसी 
ii. बहादुर 
iii. कमजोर 
iv. ताकतवर 

6. ‘अन्याय’ का विलोम शब्द होगा?

i. सच  
ii. मरण 
iii. न्याय 
iv. असफल  

प्रश्न 2: कवि प्रभु से शक्ति क्यों मांग रहे हैं?

उत्तर: कवि प्रभु से शक्ति इसलिए मांग रहे हैं क्योंकि वह मानव धर्म का पालन कर सके।

प्रश्न 3: जीवन कब सफल होगा?

उत्तर: जब हम कर्तव्य मार्ग पर डट जाएँगे और दुसरे की सेवा पर लीन हो जाएँगे तब हमारा जीवन सफल होगा।

प्रश्न 4: कवि किन दुर्गुणों से दूर रहना चाहते हैं?

उत्तर: कवि छल, दंभ, द्वेष, पाखंड, अन्याय से हमेशा दूर रहना चाहते हैं।

प्रश्न 5: हम अपने देश के लिए क्या कर सकते हैं?

उत्तर: हम अपने देश के लिए सब कुछ कुर्बान कर सकते हैं।

प्रश्न 6: कवि किन लोगों के दुखों को दूर करना चाहता है?

उत्तर: कवि दीन-हीन, निबलों-विकलों, बेसहारा लोगों के दुखों को दूर करना चाहता है।

प्रश्न 7: कवि किन बातों का ध्यान रखना चाहते हैं?

उत्तर: कवि निज आन-बान, मर्यादा, अभिमान बातों का ध्यान रखना चाहते हैं।

प्रश्न 8: कवि निबलों-विकलों के सेवक क्यों बनना चाहते हैं?

उत्तर: कवि निबलों-विकलों के सेवक इसलिए बनना चाहते हैं क्योंकि वे बेसहारा और असहाय होते हैं और उनके दुखों को दूर करने से वह भी शक्तिशाली बन सकते हैं।

प्रश्न 9: ऐसे व्यक्तियों का संताप हरने की आवश्यकता क्यों है?

उत्तर: जो व्यक्ति निर्बल है उनके संताप हरने से उनके अंदर आत्मविश्वास जागृत होगा।

प्रश्न 10: जीवन शुद्ध और सरल हो ऐसी इच्छा क्यों उत्पन्न हुई?

उत्तर: शुद्ध और सरल जीवन पवित्र होता है, जिसमें ईश्वर का निवास होता है। इस तरह के जीवन में प्रेम की सुधा रस बरसती है।

प्रश्न 11: दीन-दुखियों के कष्टों को कैसे दूर किया जा सकता है?

उत्तर: दीन-दुखियों के कष्टों को सेवक बन कर दूर किया जा सकता है।

प्रश्न 12: प्रार्थना का संदेश लिखो।

उत्तर: प्रार्थना मनुष्य को श्रेष्ठ बनाती है। यह मनुष्य में दया, ममता, परोपकार, अहिंसा, सहयोग जैसे गुणों का निर्माण तथा विकास करती है।

तो ये थे प्रश्न और उत्तर।